December 8, 2021

भटिया में विराजित है मां सिंह वाहिनी की अलौकिक दिव्य पुरातन प्रतिमा।

शहडोल (अविरल गौतम) रस मोहनी शहडोल।नवरात्र पर्व में माता रानी के दरबार में दर्शन के लिए सुबह से रात तक लगता है भक्तों का तांता यहां भक्तों को मिलता है भटिया में विराजी सिंहवाहिनी मैया का दर्शन ।मंदिर को चारों तरफ से सजाया गया है ।माता रानी का दरबार बना है आकर्षण केन्द्र ।माता रानी की महिमा बहुत दूर दूर तक फैला है माता रानी के दर्शन हेतु मध्यप्रदेश के शहडोल, उमरिया, सतना, सीधी सिंगरौली, रीवा, अनूपुर ,डिंडौरी ,कटनी जबलपुर, मंडला एवं छत्तीसगढ़ से जनकपुर कोरिया, अम्बिकापुर, विलासपुर, रायपुर ,मनेन्द्रगढ़, पेंड्रा, एवं अन्य राज्यों से उत्तरप्रदेश, दिल्ली राजस्थान आदि राज्यों के जिलों से लोग माता रानी के दर्शन हेतु भटिया आते हैं माता रानी के दर्शन हेतु शहडोल बुढ़ार, अनूपुर, बेवहारी, रेलवे स्टेशन में उतरकर बस, टैक्सी के माध्यम से भटिया पहुचने का साधन है ।भटिया माता की आरती संध्या कालीन संगीतमय होता है जो देखने लायक रहता है इसके बाद भजन का कार्यक्रम होता है इसी बीच प्रसाद वितरण होता है ।सच्चे मन से जो भी भक्त माता रानी से मन्नत मांगते हैं उनकी मन्नत पूरी होती है ।माता रानी के दर्शन हेतु जिला सागर से आये थे उन्होंने माता रानी से प्रार्थना किये की मैया आपकी ख्याति बहुत दूर दूर तक फैला हुआ है सिंह में विराजमान सिंगवाहनी माता सिंह का दर्शन करा दे ।यह विनती करके जैसे ही कुछ दूर आगे गए तो दो शेर का बच्चा खेलते हुए तालाब के मेढ़ में मिल गए ।उन भक्तों द्वारा तत्काल वापस आकर मंदिर में आकर पुनः दर्शन कर माता की महिमा से धन्य हो गए।माता रानी के दरबार मेनवरात्र में जवारा कलश की स्थापना की जाती है एक कलश की कीमत 100 रुपये है इस वर्ष 1100 कलश की स्थापना की गई है मेला प्रतिबंधित होने के कारण कलश की स्थापना कम की गई है ,घी का दीपक 1100,तेल का दीपक 551,प्रसाद वितरण के लिए 1100,2100,5100,कार्यालय में उपस्थित होकर राशि जमा करने पर उक्त कार्य सम्पन्न कराने की व्यवस्था समिति द्वारा की गई है माता रानी को किसी भी प्रकार की दान गुप्त दान ,मंदिर विकास के संबंध में दान ,सोने चांदी का श्रृंगार माता रानी को समर्पित के पहले कार्यालय से रसीद कटाना अनिवार्य है सभी प्रकार की दान की रसीद लेना अनिवार्य है ताकि आपके दान का मंदिर विकास में लग सके।यहां की पूरी व्यवस्था जय माँ सिंह वाहनी ट्रस्ट समिति एवं सेवा समिति भटिया द्वारा किया जाता है रामदीन सिंह अध्य्क्ष ट्रस्ट ,विनोद सिंह अध्य्क्ष सेवा समिति पवन तिवारी ,कन्हैया लाल गुप्ता, उपाध्यक्ष सचिव सुरेन्द्र सिंह, कोषाध्यक्ष रामकल्याण गुप्ता ,लवलेश सिंह परिहार,रामानुज सिंह परिहार विजय कृष्ण मिश्रा, जीतेंद्र तिवारी, अर्जुन गुप्ता, उमेश सिंह, हजारी प्रसाद शुक्ला, रमाकांत तिवारी, अनंत प्रजापति, अर्जुन गुप्ता,भोला प्रसाद गुप्ता, रामपाल सिंह ,सह संरक्षक अरुण सिंह परिहार, सी यल गुप्ता ,जीतेन्द्र सिंह परिहार।सदस्य रबी सिंह ,मनोज द्विवेदी आशीष त्रिपाठी ,,पुजारी सुशील उर्फ लल्लू द्विवेदी ,कैलाश द्विवेदीएवं पुलिस विभाग, राजस्व विभाग ,ग्राम पंचायत भटिया सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक आदि सभी लोगों का मंदिर व्यवस्था में सहयोग सराहनीय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *