प्रवासी श्रमिकों को कृषि उत्पादन की विधाओं से जोडे़- कमिश्नर

Last Updated on

मो.शब्बीर ब्यूरो चीफ शहडोल


आत्मनिर्भर भारत योजना में स्व सहायता समूहो को कराएॅ लाभान्वित- श्री नरेष पाल
कृषि, पषुपालन एवं उद्यानिकी विभाग की कमिष्नर ने की समीक्षा


शहडोल 05 अगस्त 2020- कमिष्नर शहडोल संभाग श्री नरेष पाल ने आज कमिष्नर कार्यालय के सभागार में कृषि कल्याण, पषुधन विकास एवं उद्यानिकी विभाग की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक लेकर विभागीय अधिकारियों को निर्देषित किया है कि वे कृषि, पषुधन एवं उद्यानिकी विभागों की योजनाओं में प्रवासी मजदूरांे को उनके क्षमता एवं रूचि के कार्यांे से जोड़कर उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना सुनिष्चित करें। उन्होने कहा है कि आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत संभाग के स्व सहायता समूहों को जोड़कर उन्हे भी लाभान्वित कराएॅ तथा हितग्राही मूलक योजनाओं से लाभान्वित कराएॅ। बैठक में संयुक्त संचालक उद्यान श्री जे पी कोलेकर, सहायक संचालक उद्यान अनूपपुर श्री व्ही डी नायर, सहायक संचालक उद्यान उमरिया श्री आरआर साकेत, सहायक संचालक उद्यान शहडोल श्री मदन सिंह परस्ते, उप संचालक पषु श्री एमपी शर्मा, श्री केके शर्मा, उप संचालक कृषि अनूपपुर श्री एनडी गुप्ता सहित शहडोल, उमरिया एवं अनूपपुर के अधिकारी उपस्थित थें।
बैठक में उप संचालक श्री गुप्ता ने कृषि विभाग की संभागीय जानकारी देते हुए बताया कि संभाग में 58.9 प्रतिषत बोनी पूर्ण कर ली गई है। संभाग में यूरिया की कमी को देखते हुए रैक आने पर कुछ यूरिया प्राप्त होने की संभावना है। इस पर कमिष्नर ने कहा कि एमडी मार्केफेड़ को उर्वरक की आपूर्ति हेतु पत्र जारी करे। बैठक में कमिष्नर ने खाद,बीज के नमूने के परीक्षण की जानकारी एवं अमानक पाए गए प्रकरणों की भी जानकारी लेते हुए निर्देष दिए कि विगत 5 वर्षाें के रिकार्ड़ देखे जहां पर अमानक स्तर के प्रकरण अधिक पाए जा रहे है। बैठक में कलेक्टर ने किसानों को एवं प्रवासी मजदूरों को हितग्राही मूलक योजना एवं कस्टम हायरिंग योजना से लाभान्वित कराने के निर्देष भी दिए। उन्होने कहा कि प्रवासी श्रमिकों केा उनके रूचि के अनुसार कृषि उत्पादक कार्याें सहित पषुधन एवं उद्यानिकी के कार्याें में भी जोड़ने का प्रयास करें। बैठक में कमिष्नर ने पषु विभाग के अधिकारियों को निर्देषित किया कि सप्ताह में गौवंष का परीक्षण कर प्रतिमाह रिपोर्ट भेजना सुनिष्चित करें। उन्होने कहा कि पुष कल्याण समिति की राषि से पषु चिकित्सा विभाग के भवनो की मरम्मत कराएॅ तथा डीएमएफ एवं सीएसआर मद से भवनो एवं सामग्री की पूर्ति कराने का प्रयास अपने-अपने जिलों में करें।

कमिष्नर ने निर्देषित किया कि सीएम हेल्पलाईन की षिकायतों के प्रकरणों को दूर कराना सुनिष्चित करे तथा अपने-अपने क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार एवं जन अभियान परिसर के लोगों को पषुओं से संबंधित जानकारी लेने हेतु उन्हें सहयोग करें। उन्होने संभाग के पषु चिकित्सालयों में मवेषिओं के साथ आने वाले उनके पालको हेतु सेनेटाइजर एवं मास्क तथा सोषल डिस्टेसिंग का पालन कराना सुनिष्चित करें।  कमिष्नर ने संभाग में गौषालाओं की स्थिति एवं पषु पालको की केसीसी के संबंध में भी जानकारी ली। कमिष्नर ने कहा कि पषु पालन एवं मुर्गी पालन के कार्याे में प्रवासी श्रमिको को जोड़कर उनका जनपदो मेें पंजीयन भी कराना सुनिष्चित करें। कमिष्नर ने उद्यान विभाग की समीक्षा करते हुए अधिकारियेां को निर्देषित किया कि घरेलू  बागवानी योजना, पीएमजीएसवाई आदि योजनाआंे की तैयारी कर बजट प्राप्त होते ही लक्ष्य पूर्ण कराएॅ। कमिष्नर ने कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने विभागीय गतिविधियों की जानकारी देना सुनिष्चित करें  तथा मषरूम एवं कोदो राइस को बढ़ावा देने हेतु बड़े-बड़े होटलो में सप्लाई हेतु सम्पर्क स्थापित करें। उन्होने उद्यान विभाग के अधिकारियेां को निर्देषित किया कि कृषि विज्ञान केन्द्र के अमले से समन्वय बनाकर उद्यानिकी को संभाग में विकसित करनेे का कार्य कराना सुनिष्चित करेें।  कमिष्नर ने संभाग के सभी अधिकारियों को निर्देष दिए है कि वे अपने-अपने विभागीय योजनाओं एवं संभाग में किये गए अच्छे कार्यांे की फोटोग्राफ एवं हितग्राही की संम्पूर्ण जानकारी सहित सफलता की कहानी सहित संकलित कर जनसम्पर्क विभाग को प्रकाषन हेतु भेजवाना सुनिष्चित करें। उक्त कार्य को सभी विभागीय अधिकारी प्राथमिकता देकर अमल में लाएॅ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *