एनटीपीसी ने लॉकडाउन अवधि के दौरान 19000 कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए सीखने और विकास के अवसर तेज किए

Last Updated on

नई दिल्ली : भारत के सबसे बड़े बिजली उत्पादक और बिजली मंत्रालय के अंतर्गत केन्द्रीय सार्वजनिक उपक्रम एनटीपीसी ने अपने 19,000 से अधिक कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों को सीखने के अवसर प्रदान किए हैं। कोविड-19 महामारी के कारण लागू लॉकडाउन की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए, एनटीपीसी की सीखने और विकसित (एल और डी) करने की रणनीति को तीव्र डिजिटलीकरण और ऑनलाइन प्रशिक्षण के माध्यम से कर्मचारियों को समृद्ध करने के लिए तैयार किया गया है, ताकि वे इन सेवाओं को कहीं भी प्राप्त कर सकें।

इसके अलावा, कंपनी ने अपने कर्मचारियों को कठोर ऑनलाइन तकनीकी पाठ्यक्रम वर्चुअल कक्षाओं में शामिल लेने, आकलन देने और अंततः प्रमाणपत्र प्राप्त करने का हिस्सा बनने का मौका देने के लिए विश्व बैंक के साथ सहयोग किया है।

पावर मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट- एनटीपीसी के शीर्ष एल एंड डी सेंटर- ने तकनीकी, कार्यात्मक, स्वास्थ्य और सुरक्षा से संबंधित विभिन्न विषयों में 250 से अधिक प्रशिक्षण सत्र आयोजित किए हैं। साथ ही बिजली संयंत्र परियोजनाओं में स्थित एनटीपीसी के क्षेत्रीय अध्ययन और विकास केन्द्रोंनेसीखने के लगभग 100 से अधिक ऑनलाइन अवसर पैदा किए हैं।

महारत्‍न कंपनी लगातार चलने वाले अध्‍ययन सत्रों के माध्‍यम से अपने कर्मचारियों को तालीम देने के लिए प्रतिबद्ध है। साथ ही वह विशिष्ट परिदृश्यों के साथ कार्य पद्धतियों में नयापन लाना चाहती है और उन्‍हें रूचि के अनुसार बनाना चाहती है। कंपनी ने महसूस किया कि यहां तक कि संकट के दौरान भी अतिरिक्‍त कौशल सिखाने की आवश्यकता है। इसलिए, एक और अनोखा सहयोग ‘45 दिन की अध्‍ययन चुनौती’- उसके कर्मचारियों को तकनीकी, वित्त और मानव संसाधन जैसे विभिन्न विषयों में 45 दिन के अध्‍ययन की पेशकश करता है, एक बार घर से पूरा करने के बाद उन्हेंप्रमाणपत्र मिल सकता है।

अत्याधुनिक सत्र प्रदान करने वाली बाहरी एजेंसियों के साथ अन्य सहयोग भी हैं।‘आर्ट ऑफ लिविंग’के सहयोग से एक समग्र कल्याण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। सभी उम्र के कर्मचारी और परिवार के सदस्य इसमें भाग ले सकते हैं, जिससे इन अशांत समय के दौरान उन्हें मजबूत और केंद्रित रहने में मदद मिलेगी। इसी तरह, ईएपी (कर्मचारी सहायता कार्यक्रम) के माध्यम से परामर्श सेवाओं के आधार पर एक विशेष छह महीने की पहल, ‘स्नेहल 2.0’को कर्मचारियों के परिवार के सदस्यों के लिए विस्तारित किया गया है। चौबीसों घंटे उपलब्ध ईएपी सेवा गोपनीय है और केवल चुनिंदा उपयोगकर्ताओं को ही दी जाती है।

इसी तरह, बिजली संयंत्र के लिए अत्‍यावश्‍यक वस्‍तुओंजैसे टर्बाइन, बॉयलर, वाटर केमिस्ट्री, नवीकणीय ऊर्जा और अन्य महत्वपूर्ण परिचालन और रखरखाव (ओ एंड एम) क्षेत्रों के बारे में घर पर और साथ-साथ गेस्ट फैकल्टीज़ के जरिये कक्षाएं आयोजित की जा रही हैं। नई शिक्षण पद्धतियों में ऑनलाइन फ़ोरम के जरिये जुड़ना, वेबिनार, आंतरिक रूप से विकसित मोबाइल एप्लिकेशन ‘संवाद’ के साथ-साथ इंटरनेट और इसके आंतरिक शिक्षण पोर्टल का लाभ उठाना शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *