कुपोषण समाप्त करने के लिए ठोस कार्यवाही करे-कमिष्नर

Last Updated on

मो.शब्बीर ब्यूरो चीफ शहडोल


मातृ वंदना कार्यक्रम में उदासीनता बरतने पर परियोजना अधिकारी उमरिया को नोटिस जारी करने के कमिष्नर ने दिए निर्देष।
मातृ वंदना कार्यक्रम के क्रियान्वयन में उदासीनता पर परियोजना अधिकारियों को दी चेतावनी


शहडोल 29 जून 2020- कमिष्नर शहडोल संभाग श्री नरेष पाल ने शहडोल संभाग में कुपोषण, मातृ और षिषु मृत्यु दर में कमी लाने के उदेष्य से शहडोल संभाग में विषेष जागरूकता अभियान चलाने के निर्देष अधिकारियेां को दिए है। कमिष्नर ने निर्देषित करते हुए कहा है कि कुपोषण की स्थिति किन कारणो से उत्पन्न होती है, इस संबंध मंे महिलाआंे को जागरूक करने के लिए शहडोल संभाग में विषेष अभियान चलाएॅ। कमिष्नर ने यह भी निर्देष दिए है कि कुपोषण समाप्त करने के लिए शहडोल संभाग मंे ठोस कार्यवाही सुनिष्चित करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देषित करते हुए कहा है कि महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी अधिकारी, कर्मचारी व्हाटसएप ग्रुपों से महिलाओं को जोड़े तथा महिलाओं को कुपोषण किन कारणों से होता है इस संबंध मंे जागरूक करें।
कमिष्नर ने निर्देष दिए है कि कुपोषण रोकने के लिए चलाएॅ जा रहें जागरूकता अभियान को अति गंभीरता से लें। कमिष्नर ने उक्त निर्देष आज महिला बाल विकास विभाग की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक मेें अधिकारियेां केा दिए। बैठक में मातृ वंदना कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए कमिष्नर ने अधिकारियों केा निर्देष दिए कि मातृ वंदना कार्यक्रम शासन का अतिमहत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम में किसी भी प्रकार लापरवाही एवं उदासीनता नही बरती जाएगी। कमिष्नर ने मातृ वंदना कार्यक्रम में अपेक्षित कार्य नही होने के कारण परियोजना अधिकारी उमरिया को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देष दिए। वही कमिष्नर ने परियोजना अधिकारी मानपुर, परियोजना अधिकारी पाली, परियोजना अधिकारी जैतहरी, परियोजना अधिकारी बुढार, परियोजना अधिकारी कोतमा, परियोजना अधिकारी राजेन्द्रग्राम को चेतावनी दी कि वे मातृ वंदना योजना के पंजीयन और क्रियान्वयन में अपेक्षित प्रगति लाएॅ। कमिष्नर ने निर्देष दिए कि शहडोल संभाग की सभी महिला बाल विकास विभाग की परियोजनाओं में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का प्रभावी क्रियान्वयन होना चाहिए स्थिति में सुधार होना चाहिए अन्यथा जवाबदेह अधिकारियेां के विरूद्व सख्त कार्यवाही की जाएगी। बैठक में कमिष्नर ने लाड़ली लक्ष्मी योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि लाडली लक्ष्मी योजना के क्रियान्वयन में कोतमा एवं जैतहरी परियोजनाओं में अपेक्षित कार्य नही हुआ है। कमिष्नर ने निर्देष दिए है कि उक्त दोनों परियोजनाओं में अपेक्षित कार्य होना चाहिए।
कमिष्नर ने सभी परियोजना अधिकारियेां को निर्देष दिए कि आॅगनवाड़ी कार्यकर्ताओ और आषा कार्यकर्ताओं की विकासखण्ड स्तर पर एक साथ बैठक लेकर उन्हें एकरूपता से कार्य करने हेतु प्रोत्साहित करें। कमिष्नर ने सभी परियोजना अधिकारियेां केा निर्देष दिए कि आॅगवाड़ी केन्द्रोे के माध्यम से वितरित होने वाले टीएचआर का वितरण निरंतर करना सुनिष्चित करें। कमिष्नर ने संस्थागत प्रसव बढ़ाने एवं मातृ मृत्यु दर में कमी लाने के लिए भी महिलाओं को जागरूक करने के निर्देष दिए। बैठक में कमिष्नर ने पोषण अभियान कार्यक्रम की भी समीक्षा की। बैठक में संयुक्त संचालक महिला एवं बाल विकास श्री बीएल प्रजापति, उपायुक्त राजस्व श्री दिलीप पाण्डेय, शहडोल संभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं परियोजना अधिकारी उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *