खाद्यमंत्री ने प्रदेश के खाद्यान्न एवं स्वास्थ्य व्यवस्था का जायज़ा लिया एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए

Last Updated on

रायपुर : खाद्यमंत्री अमरजीत भगत ने सोमवार को प्रदेश के विभिन्न जिलों के कलेक्टरों को कॉल कर पीडीएस राशन वितरण, स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति के बारे में जानकारी ली।
जशपुर क्षेत्र (सरगुजा संभाग) के आदिवासी कोरवा जनजाति को राशन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए मंत्री ने कलेक्टर, कमिश्नर से बातचीत की। इसके साथ ही खाद्यमंत्री अमरजीत भगत ने धुर नक्सल प्रभावित इलाके सुकमा और दंतेवाड़ा के कलेक्टरों एवं सम्भाग आयुक्त से बातचीत कर पीडीएस राशन वितरण और स्वास्थ्य स्थिति का जायज़ा लिया। उन्होंने कलेक्टर, कमिश्नर और सचिव स्तर के अधिकारियों से बातकर उन्हें सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ शासन और प्रशासन कोरोना महामारी के संक्रमण के रोकथाम हेतु से प्रभावी तरीके से लड़ रहा है। खाद्यमंत्री ने कहा कि लॉक डाउन की स्थिति में लोगों को राशन उपलब्ध कराना सबसे बड़ा चुनौतिपूर्ण कार्य था और हमें खुशी है कि हमने प्रदेश के 58 लाख राशनकार्ड के माध्यम से लगभग 2 करोड़ 44 लाख जनता को 12 हज़ार 3सौ आठ शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से 2 माह का मुफ्त राशन उपलब्ध कराया है जो कि अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है।
खाद्यमंत्री ने बताया कि लोगों को घबराने की ज़रूरत नहीं है, प्रदेश में अगले 1 साल के लिए राशन का भंडारण पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *