मै हूँ अमित जोगी और मेरी जाती मेरा धर्म है मेरा छत्तीसगढ़


जोगी एक्सप्रेस
रायपुर छत्तीसगढ़ विधानसभा में मरवाही विधायक अमित जोगी के खिलाफ संसदीय कार्यमंत्री अजय चन्द्राकर के द्वारा निंदा प्रस्ताव लाया गया जिसका समर्थन पी सी सी अध्यक्ष व विधायक भूपेश बघेल ने करते हुए अमित जोगी के धर्म पर सवाल उठाया वहीं निंदा प्रस्ताव का समर्थन नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव ने भी किया । अपने खिलाफ लाये गये निंदा प्रस्ताव के जवाब में अमित जोगी ने विधानसभा में राष्ट्रगान के रचयिता रविन्द्रनाथ टैगोर के द्वारा लिखी एक कहानी सुनाते हुए कहा कि दो मित्र थे जैक्सन और जोजफ। एक मित्र को लगा कि मैं अपने दूसरे मित्र को कैसे फसाउं तो उसने कहा कि मैं जो तुमसे कहुंगा वह तुम करोगे या नहीं करोगे तो उसने कहा कि हां करूंगा क्योंकि तुम्हारा मित्र हूं । उसको पहले मित्र ने तीन विकल्प दिये कि वह अपने पिता की हत्या कर दे या अपनी पत्नि का खून कर दे या फिर शराब पी ले । दूसरे मित्र ने सोंचा कि अपने पिता या पत्नि को कैसे मारूंगा इस लिए उसने सबसे आसान रास्ता समझते हुए शराब पी लिया । फिर शराब के नशे में अपने पिता और पत्नि दोनो का वध कर दिया। अमित जोगी ने कहा कि सारी समस्याओं की जड़ ये शराब है इसलिए हम प्रदेश में शराबबंदी की मांग करते है क्योकि हमारे संविधान के अनुच्छेद 47 में डायरेक्टिव प्रिंसिपल्स आॅफ स्टेट पाॅलिसी में सरकार को स्पष्ट कहा गया है कि सरकार का उद्देश्य शराब बंदी लागू करना होना चाहिए। अमित जोगी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार राष्ट्रगान के दौरान खड़े रहना चाहिए और वे राष्ट्रगान के दौरान खड़े थे तथा हाथ में रखी गयी तख्ती में छत्तीसगढ़ महतारी की आवाज सुनो, शराब बंदी लागू करो यह लिखा था इन दो लाईनो से राष्ट्रगान का अपमान कैसे हो सकता है ? उन्होने कहा कि उनके द्वारा गंगा जल छिड़के जाने पर भी आपत्ति किया गया जबकि गंगा जल में इतनी ताकत है कि वह सभी पापों को दूर करती है उन्होने कहा कि उनके द्वारा सदन में गंगा जल छिडक ़कर गंगा जल का सम्मान किया गया है जबकि सदन में शराब बेचने का अध्यादेश लाया जा रहा है जो कि संविधान के विपरित है हम विधायक लोकतंत्र के इस मंदिर के पुजारी हंै। हमारा काम जनता का सेवा करना है न कि शराब बेचना है। अमित जोगी ने कहा कि पहले उनके जन्म एवं जाति पर सवाल उठाया जाता था परन्तु अब उनके धर्म और कपड़े के पहनावे पर भी सवाल उठाया जा रहा है उन्होने कहा कि उनका धर्म हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी है क्योंकि उनका धर्म एवं जाति छत्तीसगढ़ है। अमित जोगी के उपरोक्त तर्को के बावजूद भी सदन में मौजूद सत्ता पक्ष भाजपा एवं विपक्षी कांग्रेस के सदस्यों ने ध्वनि मत से अमित जोगी सियाराम कौशिक एवं आर के राय के विरूध्द निंदा प्रस्ताव पारित कर दिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *