October 17, 2020

जोगी का नामांकन पत्र निरस्त कराने में कांग्रेस की भूमिका अलोकतांत्रिक व राजनीतिक दुराग्रह की परिचायक : भाजपा

संकीर्ण राजनीतिक नज़रिये के दायरे में क़ैद कांग्रेस विपक्ष का मुक़ाबला करने से मुँह चुराने के जतन में लगी है

कांग्रेस को तो अब मरवाही में जनता पूरी तरह ख़ारिज़ करने जा रही है : कौशिक

रायपुर। प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने मरवाही विधानसभा उपचुनाव में जनता कांग्रेस (छ) के उम्मीदवार अमित जोगी का नामांकन पत्र निरस्त कराने में कांग्रेस की भूमिका को अलोकतांत्रिक व राजनीतिक दुराग्रह का परिचायक बताया है। श्री कौशिक ने कहा कि अपने संकीर्ण राजनीतिक नज़रिये के दायरे में क़ैद कांग्रेस का स्वस्थ लोकतांत्रिक परंपराओं में कोई विश्वास नहीं है और जनादेश को हड़पने वह किसी भी हद तक जाकर विपक्ष का मुक़ाबला करने से मुँह चुराने के जतन में लगी है।

नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि पहले जकांछ उम्मीदवार ऋचा जोगी का जाति प्रमाण पत्र निलंबित किया जाना और बाद में आपत्ति करके जाति के मुद्दे पर जकांछ के ही एक और उम्मीदवार अमित जोगी का नामांकन निरस्त कराना लोकतंत्र पर कुठाराघात है। श्री कौशिक ने कहा कि सत्ता में आने के बाद से ही कांग्रेस ने लोकतंत्र का गला घोटने का कोई अवसर नहीं छोड़ा। स्थानीय निकायों के चुनाव में जनता के लोकतांत्रिक अधिकार का हनन करके कांग्रेस चोर दरवाजे से सत्ता हासिल करने के हथकंडे आजमा चुकी है और अब अपनी सरकार के नाकारापन से शर्मसार होकर जनता के सामने विपक्ष से मुक़ाबिल होने भयभीत होकर कार्य कर रही है । उन्होंने कहा कि जोगी जब कांग्रेस में होते हैं तो वे आदिवासी रहते हैं लेकिन कांग्रेस से बाहर जाते ही आदिवासी नही रह जाते हैं। अब कांग्रेस पार्टी को बताना होगा कि इस तरह की दोहरी राजनीति कर वह जनता को कब तक ठगती रहेगी?

नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस को तो जाति-विवाद के मद्देनज़र कोर्ट के फैसले का इंतज़ार करना चाहिए था लेकिन कांग्रेस के राजनीतिक चरित्र में लोकतंत्र और जनादेश के सम्मान को खोजना बालू में सुई की खोज करना ही होगा। श्री कौशिक ने कहा कि अपनी विश्वसनीयता खो चुकी कांग्रेस को अब मरवाही की जनता बुरी तरह ख़ारिज़ करने जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *