धनपुरी नगर में शुरू हुआ फिर से प्रतिबंधित दवाओं का काला कारोबार, पुलिस की कार्यवाही पर लगा प्रश्नचिन्ह

Last Updated on

लग रहा बड़ा आरोप नहीं थम रहा है नशीली दवाओं का कारोबार, पुलिस की मिलीभगत से फिर शुरू हुआ कारोबार

सभी फाइल फोटो क्रेडिट बाय गूगल

शहडोल,धनपुरी,कहावत है न कि कुत्ते की पूँछ को साल भर पाइप में डाल कर रखिए, और जब निकलेंगे तो टेढ़ी की टेढ़ी ही निकलेगी आज से ठीक एक वर्ष पूर्व नगर के अमन पसंद लोगो ने नशीली दवाओं प्रतिबंधित इंजेक्शन गोलियों की खुले आम बिक्री के विरोध में थाना धनपुरी का सहयोग मांगा था ताकि इस नशे के कारोबार में लगाम लगाई जा सके परंतु ऐसा कुछ हुआ नही।
आज एक साल बाद नशे के कारोबारियों की जहाँ तादाद बढ़ी वही नशे का उपयोग करने वाली युवा पीढ़ी के बीच इस नशे की दीवानगी, और मामला नशे के कारोबार से होते हुए आपसी झगड़े दुश्मनी में तब्दील होते होते के हत्या तक पहुँच गया लेकिन पुलिस के कान में जूं तक नही रेंगी

सूत्रों की माने तो इस बीच बहुत से इस अवैध और नशे के कारोबारियों की धरपकड़ तो हुई, लेकिन मामला कड़क और खरा पैसा कमाने का था सो पुलिस भी आँखों मे पट्टी बाँध कर इन नशे के कारोबारियों से अपना हफ्ता समय पर वसूलने इनके अड्डो पर जाने लगी
पैसा मिलते ही पुलिसकर्मि हिदायत दे कर इन कारोबारियों को चलते बनते थे
जानकारों की माने तो धनपुरी थाने का आलम अब यह हो गया है कि हर काम के रेट तय है, जुआ, सट्टा, कबाड़, चोरी, रहजनी, लूटपाट का पूरा हिसा अब किस्से कहानियों या फिल्मों तक नही रह गया अब ये सब धनपुरी थाने में अक्सर देखने को मिलता है,
हाल ही में पुलिस कप्तान की निगरानी में एक बड़े मामले का पर्दाफाश किया गया और उसकी जल्दी बाजी में इतिश्री भी कर दिया गया,
जानकारों की माने तो नशीली दवाओं का ये काला कारोबार फिर से शुरू हो गया, नियमति इसके ग्रहक अब धनपुरी नगर के कच्छी मोहल्ला पहुँच रहे और ऊंचे दामो पर कोरेक्स ,फेंसिड्रिल, नायट्रोसन, और नशे में उपयोग किए जाने वाले महंगे प्रतिबंधित इंजेक्शन की बिक्री फिर से चालू हो गई है
सूत्रों की माने तो कुछ ही हफ़्तों पहले इस से जुड़े कारोबारियों को पुलिस ने जेल भी भिजवाया था, और जेल से छूटते ही पुनः नशे का कारोबार शुरू हो गया,

बताया गया है कि नशे के लिए कुख्यात एक महिला तस्कर जो कि लेडी किलर के नाम से मशहूर है उसके कार्य करने की ताकत और पैसो के अम्बार के आगे अच्छे अच्छे वर्दीधारी नतमस्तक है सारा काम फोन के माध्यम से सेट कर यह लेडी डॉन अब अकेले ही इस नशे के कारोबार को सम्हाल रही है।
स्थानीय लोगो की माने तो आज तक पुलिस की कार्यवाही इस पर सिफर ही रही है,

यदि समय रहते कोई कार्यवाही पुलिस द्वारा नही की गई तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नही होगी कि इस नशे के कारोबार में कई जाने चली जाए

महिलाओ का निकलना हुआ मुश्किल

मोहल्ले वासियो ने बताया कि दूसरे मोहल्ले से नशेड़ी युवक हमारे मोहल्ले आते है और नशे में धुत तेज रफ्तार से मोटरसाइकिल पर तीन सवारी जाते है, और धीरे चलाने को कहने पर तुरंत भड़क जाते है , हम लोग इतने भयभीत है कि कही ये लोग कुछ अनहोनी घटना हमारे घरों के बच्चो के साथ भी न कारित कर दे,

छोटे छोटे बच्चे भी पी रहे कोरेक्स

सूत्रों की माने तो सातवी आठवी पहुचते पहुचते यहाँ बच्चो में एक नशे का जुनून से सवार हो जाता है, घर से पैसे निकाल कर सीधे नशे के सौदागरों के पास और उस रकम से नशे का सामान खरीदा जाता है, ये बहुत गंभीर मामला है यदि यही हाल रहा तो निश्चय ही परिणाम अच्छे नही होंगे, पुलिस को भी चाहिए कि आम जनता की हिफाजत के साथ इन अवैध और प्रतिबधित दवा विक्रेताओं पर लगाम लागए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *