NHRC ने दिल्ली दंगों का लिया संज्ञान, जांच के लिए बनाई फैक्ट फाइंडिंग टीम

Last Updated on

 
नई दिल्ली

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हुई हिंसा की जांच के लिए एक फैक्ट फाइंडिंग टीम का गठन किया किया है। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में भड़की हिंसा में 42 लोगों की मौत हो चुकी है और 250 से अधिक लोग जख्मी हुए हैं। उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पम्प को फूंक दिया और स्थानीय लोगों व पुलिसकर्मियों पर पथराव किया। यह दिल्ली में तीन दशक में सबसे भयानक दंगा था।
 एक अधिकारी के मुताबिक, 'एनएचआरसी ने नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हिंसा की जांच के लिए फैक्ट फाइंडिंग टीम का गठन किया है।' NHRC की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने दिल्ली में और खास तौर पर नॉर्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट में हिंसा का संज्ञान लिया है, जैसा कि मीडिया में रिपोर्ट किया गया है। बयान में आगे कहा गया है कि आयोग ने अपने डायरेक्टर जनरल (इन्वेस्टिगेशन) को निर्देश दिया था कि इन घटनाओं के कारण मानवाधिकारों के उल्लंघन के आरोपों की मौके पर जांच करने के लिए फैक्ट फाइंडिंग टीम को तैनात करें।
 

NHRC ने अपने बयान में बताया है कि उसने हिंसा की अपनी तरफ से जांच के लिए हालात सामान्य होने का इंतजार किया क्योंकि उस वक्त उसके अधिकारियों की सुरक्षा खतरे में होती। बयान में कहा गया है, 'टीम (फैक्ट फाइंडिंग टीम) नॉर्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के पुलिस कंट्रोल रूम का दौरा करेगी। प्रभावित लोगों और हिंसा में अपने जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों से मुलाकात करेगी।'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *