क्यूबा में मनाई गई क्रांतिकारी नेता चे ग्वेरा की 50वीं पुण्यतिथि: चे ग्वेरा की बेटी को सता रहा है डर, ट्रंप के पागलपन से बर्बाद हो सकती है मानवता

Last Updated on

 डोनाल्ड ट्रंप के पास ताकत है, स्वविवेक नहीं:अलीदा

 प्रतिबंध से मेडिकल व्यवस्था और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र पर असर पड़ा है:अलीदा

हवाना: क्यूबा के क्रांतिकारी नेता अर्नेस्टो चे ग्वेरा की 50वीं पुण्यतिथि के मौके पर सड़कों पर 60,000 से अधिक लोग इकट्ठा हुए. मीडिया खबरों के अनुसार सांता क्लारा में चे ग्वेरा के मकबरे पर रविवार को हुई रैली के दौरान क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो भी मौजूद थे.

यह रैली एक सप्ताह से देश में गुरिल्ला लड़ाकों को दी जा रही श्रद्धांजलि के बाद आयोजित की गई. गुरिल्ला लड़ाकों ने देश से तानाशाही शासन को उखाड़ फेंकने में मदद की थी और इसके बाद फिदेल कास्त्रो ने देश की सत्ता संभाली थी.

रविवार को दिवंगत फिदेल कास्त्रो के छोटे भाई राउल कास्त्रो और कम्युनिस्ट पार्टी के अन्य नेताओं ने स्मारक के अंदर ग्वेरा और उनके गुरिल्ला साथियों को श्रद्धांजलि दी.

क्यूबा के पहले उपराष्ट्रपति मिगुएल डियाज कैनल ने कहा कि चे नहीं मरे हैं, जैसा उनके दुश्मन चाहते थे. उनका कद समय के साथ-साथ बढ़ता ही गया है और युवा पीढ़ी उनके क्रांतिकारी आदर्शों को पहचानते हैं.

डियाज कैनल ने कहा कि ग्वेरा एक सार्वभौमिक प्रतीक है और साम्राज्यवादों द्वारा कुचले गए विभिन्न देशों की आजादी के संघर्ष के प्रेरणास्रोत हैं.

चे ग्वेरा की बेटी को सता रहा है ये डर

क्यूबा के कम्युनिस्ट क्रांतिकारी नेता चे ग्वेरा की बेटी को डर है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पागलपन से मानवता नष्ट हो सकती है. ग्वेरा की सबसे बड़ी बेटी डॉ. अलीदा ग्वेरा मार्च ने अमेरिका पर लोगों की ताकत को कुचलने के लिए युद्ध का इस्तेमाल करने का भी आरोप लगाया. ग्वेरा परिवार के लिए अक्सर प्रवक्ता के रुप में नजर आने वाली 57 वर्षीय अलीदा ने क्यूबा की राजधानी हवाना में एक साक्षात्कार में वीक से कहा, ‘‘इन व्यक्ति के पास मानवता को नष्ट करने की बहुत ताकत है और हम उस मानवता का हिस्सा हैं. यही समस्या है. यह कि उनके पास ताकत है, स्वविवेक नहीं.’’जब उनसे पूछा गया कि वह दस साल बाद क्यूबा को कहां देखती हैं, अलीदा ने कहा, ‘‘यह अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति के पागलपन पर काफी निर्भर करता है.’’ उन्होंने ट्रंप की ओर संकेत करते हुए कहा, ‘‘हम अहसास नहीं करते या अहसास करना नहीं चाहते कि हम अपने ही ग्रह को नष्ट कर रहे हैं…..हम जो विध्वंस करने जा रहे हैं वह इससे पहले की निष्क्रियता है और सत्ता में इस तरह के पागल व्यक्तियों के रहने से चीजें और जटिल हो जाती हैं.’’अलीदा के हवाले से कहा गया है, ‘‘यह जाग जाने का वक्त है. हमें जागना होगा क्योंकि हमारे पास ज्यादा वक्त नहीं बचा है.’’ अपने चुनाव अभियान के दौरान ट्रंप ने क्यूबा से फिर से संबंध स्थापित करने के लिए 2014 में तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबाामा द्वारा किये गये करार की आलोचना की थी और इससे पीछे हटने का निश्चय किया था.जून में ट्रंप ने क्यूबा पर नये यात्रा एवं कारोबार प्रतिबंधों की घोषणा की थी. अलीदा ने कहा कि प्रतिबंध से मेडिकल व्यवस्था और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र पर असर पड़ा है.

साभारः जी न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *