डोकलाम : चीन ने फिर तैनात किए 500 सैनिक

Last Updated on

नई दिल्ली: [वेब डेस्क ]ला सीतारमण अपने अगले दौरे पर जा रही है। सूत्रों के मुताबिक वह 7 अक्टूबर को सिक्किम और 8 अक्टूबर को अरुणाचल प्रदेश जा रही हैं जहां वह इन राज्यों में चीन से लगती सीमाओं पर स्थिति की समीक्षा करेंगी।

सिक्किम सैक्टर में भारत-चीन-भूटान ट्राईजंक्शन क्षेत्र में चीनी सेना के साथ गतिरोध समाप्त होने के बावजूद डोकलाम से लगती चुम्बी घाटी में चीनी सैनिकों की बढ़ती तैनाती के कारण क्षेत्र में हालात हर साल की तरह सामान्य नहीं हैं। अमूमन इस समय तक चीनी सैनिक इस क्षेत्र से हटना शुरू कर देते हैं लेकिन इस बार वापस लौटने की बजाय 500 से भी अधिक चीनी सैनिक क्षेत्र में तैनात हैं। इस घटना से दोनों देशों के बीच तनाव एक बार फिर बढ़ गया है। चीनी गतिविधियों को देखते हुए भारत ने भी सेना को इस क्षेत्र में हाई अलर्ट पर रखा है और क्षेत्र में हो रही गतिविधियों पर भारतीय सैनिकों की कड़ी नजर है।

इन परिस्थितियों को देखते हुए सीतारमण की इस यात्रा को भविष्य की रणनीतियों के संदर्भ में महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इस बीच डोकलाम क्षेत्र में गतिरोध की जगह से कुछ किलोमीटर दूर चीन द्वारा पहले से बनी अधूरी सड़क को फिर चौड़ा और लंबा किए जाने की रिपोर्टों से भी इस तरह के संकेत मिल रहे हैं कि क्षेत्र में सब कुछ पूरी तरह सामान्य नहीं है। वायुसेना प्रमुख बी.एस. धनोआ ने कल ही कहा था कि चुम्बी घाटी में चीनी सैनिक अभी भी तैनात हैं और उन्हें उम्मीद है कि सैन्य अभ्यास समाप्त होने के बाद वे वापस चले जाएंगे।

डोकलाम व कश्मीर पर सैन्य कमांडर करेंगे गहन मंथन
डोकलाम गतिरोध से सिक्किम सैक्टर में बनी स्थिति और जम्मू-कश्मीर में सीमा पार से बढ़ती घुसपैठ तथा संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं के बीच सेना के शीर्ष कमांडर लगातार 6 दिन तक सीमाओं की सुरक्षा, सैन्य संचालन तैयारियों, सेना के आधुनिकीकरण, हथियारों की खरीद और सैनिकों के कल्याण से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर गहन विचार-विमर्श करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *