September 27, 2017

कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक से पहले चीन में बैन हुआ WhatsApp

Last Updated on

जोगी एक्सप्रेस 

बीजिंग। चीन में इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप को ब्लॉक कर दिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ग्लोबल ऑब्जर्वेशन नेटवर्क, ओपन ऑब्जरवेटरी ऑफर नेटवर्क इंटरफ्रेंस (OONI) ने बताया है कि चीन में इंटरनेट सेवा प्रदाता कंपनियों ने व्हाट्सएप के एक्सेस को 23 सितंबर से ब्लॉक करना शुरू कर दिया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस कदम का मुख्य कारण अगले महीने होने वाली कम्युनिस्ट बैठक को माना जा रहा है। बैठक में हिस्सा लेने वाले लोगों की जानकारी व्हाट्सएप द्वारा बाहर लीक न की जाए इसलिए यह कदम उठाया जा रहा है। वहीं, ट्विटर पर साझा की गई सार्वजनिक रिपोर्ट की मानें तो 19 सितंबर से ही व्हाट्सएप को कई यूजर्स इस्तेमाल नहीं कर पा रहे थे। पिछले कुछ महीनों से व्हाट्सएप को इस्तेमाल करने में चीनी यूजर्स को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था।

व्हाट्सएप से पहले चीन ने फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर और गूगल का एक्सेस ब्लॉक किया था। हालांकि, कई यूजर्स इन सर्विसेस का इस्तेमाल वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क यानी (VPN) के जरिये कर रहे हैं। साथ ही कई यूजर्स ऐसे टूल्स के जरिये भी ब्लॉक्ड साइट का इस्तेमाल कर रहे हैं जो सेंसरशिप को दरकिनार करने के लिए इंटरनेट ट्रैफिक को छिपाने का काम करता है, लेकिन चीनी सरकार ने ऐसे VPN के लिए इस साल क्रैकडाउन लॉन्च किया है।

RAND कॉरपोरेशन के वरिष्ठ इंटरनेशनल डिफेंस रिसर्च विश्लेषक तिमोथी हेथ ने बताया कि व्हाट्सएप के मजबूत एनक्रिप्शन की वजह से चीनी सरकार इसे पसंद नहीं करती है। सरकार इंटरनेट कम्युनिकेशन को मॉनिटर करना चाहती है इसलिए वो यूजर्स को ऐसे टेक्नोलॉजी इस्तेमाल कराना चाहती है जिसे सरकार द्वारा मॉनिटर किया जा सके। आपको बता दें कि पिछले महीने सरकार ने WeChat से उनकी पॉलिसी को यूजर्स के साथ साझा करने की बात कही थी। WeChat चीन की लोकप्रिय चैट सर्विस है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *