सरगुजा जिला में व्याप्त अनियमित्ताये व भ्रष्टाचार के सम्बन्ध में हुई प्रधानमंत्री से शिकायत 

जोगी एक्सप्रेस 

अंबिकापुर(अजय तिवारी):सरगुजा जिला मुख्यालय के कार्यालयों में  व्याप्त भ्रष्टाचार व घोटालों के संबंध में  अंबिकापुर निवासी बरिष्ट नागरिक बसन्त बनर्जी  द्वारा  प्रधानमंत्री महोदय को एक शिकायत आवेदन पत्र प्रस्तुत कर इन कार्यालयों में हो रहे कारनामो का विस्तृत उल्लेख किया गया है तथा  जांच उपरान्त  कार्यवाही की भी मांग की गई है ।
प्रधानमंत्री कार्यालय को दिए गए आवेदन में श्री बनर्जी ने व्याप्त भ्रष्टाचार के सम्बन्ध में  ध्यानाकर्षण कराते हुए लिखा है  कि  जिला सरगुजा में नगर निगम, पीडब्लूडी ,शिक्षा विभाग, सिंचाई विभाग में अनियमित्ताये एवं भ्रष्टाचार अपनी चरमसीमा में है ।छत्तीसगढ़ शासन इस पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है ।राष्ट्रीय पर्व 15अगस्त एवम 26 जनवरी को भी  टेंट  संबंधी कार्यों भ्रष्टाचार किया जाता है। नगर पालिका निगम के द्वारा जिस ग्राउंड में ध्वजारोहण किया जाता है उसकी साइज 300,  300 है लेकिन उसका बिल 600, 600 का बनाया जाता है। नगर निगम के द्वारा किसी भी कार्यक्रम में टेंट सम्बन्धी  बिल बढ़ा चढ़ाकर  बनाया जाता है । वहिं PWD विभाग में  भी मुख्य कार्यपालन अभियन्ता बी.पी. अग्रवाल द्वारा निविदा  आमंत्रित नहीं किया जाता और अपने चाहते ठेकेदारों द्वारा कार्य पूर्ण करा लिया जाता है ।इनके द्वारा कभी भी छत्तीसगढ़ भंडार क्रय अधिनियम का  पालन नहीं किया जाता उनके द्वारा अनाप शनाप बिल बनाकर अपने निजी स्वार्थ को देखते हुए भुगतान किया कर दिया जाता है ।राष्ट्रीय पर्व में भी इसी प्रकार से ही उनके द्वारा खेल खेला जाता है जब आरटीआई के तहत इस संबंध में जानकारी मांगी जाती है तो जानकारी भी नहीं दिया जाता क्योंकि इनको डर बना रहता है कि कहीं इनके द्वारा भुगतान किए गए फर्जी बिलों का पर्दाफाश न हो जाए।
  उन्होंने अपने आवेदन में शिक्षा विभाग के अधिकारियों के ऊपर भी आरोप लगाते हुए उल्लेख कीया है की जिला शिक्षा अधिकारी संजय गुप्ता पूर्व में  अंबिकापुर में पदस्थ थे तब कई प्रकार के अनियमितताओं  के आरोप उनपर लगे थे जिस  कारण उनका तबादला भी हो गया था लेकिन पुनः तीन वर्ष बाद उनकी पदस्थापना अंबिकापुर में हो गयी है ।पूर्व में भी संजय गुप्ता द्वारा खेल कुद प्रतियोगिता में  अनाप शनाप बिल बनाकर भुगतान किया गया था। उन्होंने अपने आवेदन में  यह भी आरोप लगाया है कि वर्तमान में खेल कूद प्रतियोगिता में भी टेंट सम्बन्धी कार्य  बिना निविदा आमंत्रित किये ही अपने चहेते व्यवसायी को दिया है जबकी समाचार पत्र में  उक्त कार्यक्रम के सम्बन्ध में जानकारी प्रॉप्त होने के पश्चात मेरे द्वारा दिनाँक 15/09/17को निविदा आमंत्रित करने सम्बन्धी आवेदन भी दिया था किंतु उसको दरकिनार करते हुए अपने निजी लाभ को देखते हुए निविदा आमंत्रित न कर भंडार क्रय अधिनियम का खुलेआम उल्लंघन किया गया है।
इस सम्बन्ध में श्री बनर्जी ने बताया कि बताया कि मेरे द्वारा दिनाँक 20 /09/17  को कलेक्टर  अंबिकापुर सरगुजा को भी एक आवेदन पत्र प्रस्तुत कर  जिला शिक्षा अधिकारी संजय गुप्ता एवं  राजेश कुजूर द्वारा 17 वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीडा प्रतियोगिता में किये गए भ्रष्टाचार और अनियमित्तायो के संबंध में  अवगत कराया गया है तथा जांच कर कार्यवाही की भी मांग की गयी है। जिसकी प्रतिलिपि  आयुक्त महोदय सरगुजा संभाग, माननीय मुख्यमंत्री महोदय छत्तीसगढ़ शासन रायपुर , प्रधानमंत्री कार्यालय नई दिल्ली, ईओडब्ल्यू कार्यालय /एसीबी कार्यालय छत्तीसगढ़ रायपुर, शिक्षा मंत्री छत्तीसगढ़ शासन रायपुर, शाखा सरगुजा को भी प्रेषित की गई है किन्तु एक सप्ताह बीत जाने के बावजूद भी अब तक कोई जांच या कार्यवाही सामने नही आई है।
बहरहाल अब इस मामले में देखना बाकी यह रह गया है की सरगुजा में हो रहे भ्रष्टाचार एवम घोटालों की जानकारी शासन प्रशासन को देने के पश्चात इन अधिकारियो के विरुद्ध इनके किये गए कारनामो पर जांच कर कोई ठोस कार्यवाही की जाती है  या फिर इन अधिकारियो को पूर्ण रूप से खुली छूट दी जाती है।

2 thoughts on “सरगुजा जिला में व्याप्त अनियमित्ताये व भ्रष्टाचार के सम्बन्ध में हुई प्रधानमंत्री से शिकायत 

  1. सादर नमस्कार , आप कुछ भी मत करिए आप को किसी को भी ग्यापन देने की जरूरत नही है आप सभी के पावती को ले जाकर सीधे हाइकोर्ट में लगा दीजिये सब दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। आदरणीय जी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *