ऑक्सीजन के कमी में तीन बच्चों की मौत इंसानियत के गाल में तमाचा: सुब्रत डे

जोगी एक्सप्रेस 

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने राजधानी के सबसे बड़े शासकीय अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई मानवीय गलती से बन होने के कारण तीन बच्चों की मौत को सरकारी हत्या करार देते हुए कहा कि यह प्रदेश का दुर्भाग्य है कि जिस प्रदेश का मुख्यमंत्री अपने नाम के आगे डॉ शब्द लिखते हैं किंतु प्रदेश के स्वास्थ्य व्यवस्था के प्रति कतई गंभीर नहीं है प्रदेश में लगातार 14 वर्षों से हो रहे आंखफोड़वा, गर्भाशय निकलना, बस्तर की ग्रामीण आदिवासियों को नक्सली बताकर उनके कितनी निकालना, शासकीय अस्पताल से नकली दवाइयां की सप्लाई, स्वास्थ्य बीमा योजना के नाम पर फर्जीवाड़ा जैसे अनेक कांड इस प्रदेश सरकार की कारगुजारी व उनके मुखिया डॉ शब्द के आड़ में की गई संवेदनशीलता का उदाहरण है।
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुबह डे कहा कि सरकार इतनी बड़ी घटना के बाद कार्यवाही के नाम पर एवं अपने कर्मचारी के खिलाफ मामला दर्ज व कउम जांच के नाम पर पूरे मामले में पर्दा डालने का प्रयास कर रही है । जब बच्चे मारे गए है तो फिर सरकार ड्यूटी में उपस्थित डॉ व नर्सो के खिलाफ कार्यवाही क्यों नहीं करती है ? क्योंकि स्वास्थ सचिव पोस्टमार्डम के पूर्व ही बच्चों के बीमारी से  मौत की पत्रकार वार्ता लेते हैं ?  इसकी पूर्व में भी प्रदेश में अनेक स्वास्थ विभाग के लापरवाही के कारण मरीजों की मौत की घटना हुई है जिसमें अनेक जांच की घोषणा कि गई थी उस पर क्या-क्या कार्यवाही हुई है  ?
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने कहा कि डॉ रमन सिंह के नेतृत्व में स्वास्थ्य मंत्री मंत्री सहिंत पूरा  स्वास्थ अमला प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग में मात्र भ्रष्टाचार के आकंठ तक डूबा हुआ है । मुख्यमंत्री,  मंत्री सहित अमला लाशों के अंबार में बैठकर मात्र पैसा कमाना चाहता है अतः लगातार प्रदेश के गिरते स्वास्थ्य के स्तर सुधार के लिए प्रदेश की मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह व  स्वास्थ्य मंत्री को तत्काल इस्तीफा देना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *