पहली बारिश में ही भरभरा कर गिरा शौचालय, एक माह पूर्व ही हुई थी घटिया निर्माण की जांच?जाँच पर ही उठ रहे सवाल

मानवाधिकार एशोसियेशन ने किया ठेकेदार व इंजीनियर पर कड़ी कार्यवाही की मांग

जोगी एक्सप्रेस 

नसरीन अशरफ़ी 

चिरमिरी । स्वच्छ भारत मिशन के तहत चिरमिरी नगर पालिक निगम द्वारा बनाये गए शौचालय एक बारिश की मार भी नहीं झेल पाये और पहली बारिश में ही चिरमिरी नगर पालिक निगम के अंर्तगत आने वाले हल्दीबाड़ी के वार्ड क्रमांक-12 में बने तीन शौचालय ढह गए है । हितग्राहियों ने इसकी शिकायत चिरमिरी नगर पालिक निगम से कर दिया है लेकिन निगम प्रशासन नें इन शौचालयो की मरम्मत के लिए अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है । ज्ञात हो कि अंर्तराष्ट्रीय मानवाधिकार एशोसियेशन के कोरिया जिला अध्यक्ष राकेश महौत नें कुछ माह पूर्व ही कलेक्टर कोरिया को एक ज्ञापन देकर हल्दीबाड़ी के वार्ड क्रमांक-12 में खुर्शीद कंस्ट्रक्शन द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाये गए सभी शौचालयो के घटिया निर्माण होने की शिकायत करते हुए जांच की मांग की थी । जिस पर लगभग डेढ़ माह पूर्व चिरमिरी नगर पालिक निगम के तीन इंजीनियरो के दल नें मौके पर जाकर इस निर्माण की जांच की थी । अभी इस दल ने जांच रिर्पोट प्रस्तुत भी नही किया, इसी बीच पहली बारिश में ही वार्ड क्रमांक-12 के तीन शौचालय ढह गए ।
         उपरोक्त संदर्भ में अंर्तराष्ट्रीय मानवाधिकार एशोसियेशन के कोरिया जिला अध्यक्ष राकेश महौत नें जानकारी देते हुए बताया कि उन्हे 25 मई 2017 को हल्दीबाड़ी के वार्ड क्रमांक-12 में रहने वाले हितग्राहियो नें एक संयुक्त हस्ताक्षरित पत्र देकर बताया था कि उनके वार्ड में खुर्शीद कंस्ट्रक्शन के प्रोप्राईटर मो0 युसुफ नें  बेहद घटिया स्तर का शौचालय बनाया है । मात्र 2-3 बोरी सीमेन्ट में शौचालय का निर्माण किया है तथा हर हितग्राही से शौचालय निर्माण के लिए 2-2 हजार रूपये की वसूली भी की है । उपरोक्त मामले को उन्होने गंभीरता से लेते हुए इसके जांच की मांग कलेक्टर कोरिया से किया तथा इसकी जानकारी उन्होने पत्र के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री डा0 रमन सिंह तथा नगरीय निकाय मंत्री राजेश मूणत को भी दिया । जिसके बाद चिरमिरी नगर पालिक निगम के आयुक्त बी. एल. सुरक्षित नें उपरोक्त मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम का गठन किया जिसमें मुख्य अभियंता डी. के. शर्मा, कार्यपालन अभियंता एम. एल. साहू, उप अभियंता विजय बधावन एवं अशोक साहू को शामिल किया । उपरोक्त चार सदस्यीय टीम नें 30 जून 2017 को मौके पर जाकर शौचालयो का निरीक्षण किया तथा हितग्राहियो का बयान भी लिया । इस जांच को हुए एक माह भी पूरा नही हुआ तथा जांच टीम नें अभी अपनी रिर्पोट भी नहीं सौपी, इसी बीच 27 जुलाई को हुई बारिश में हितग्राही श्रीमती जमुना आमानाला तथा श्रीमती राजकुमारी कलशी दफाई का शौचालय पूरी तरह से घसक कर गिर गया, वहीं हितग्राही ताराबाई के शौचालय का सेप्टिक टैंक टूट गया ।
         श्री महौत ने आगे बताया कि उपरोक्त मामले की जानकारी मिलने पर वे वार्ड क्रमांक-12 के पार्षद संतन चैहान के साथ मौके पर गये तथा गिरे हुए शौचालय का मुआयना किया व उसकी वीडियोग्राफी करायी । साथ ही इस मामले की जानकारी तत्काल मोबाईल के माध्यम से चिरमिरी नगर पालिक निगम के मुख्य अभियंता डी. के. शर्मा को दिया लेकिन अभी तक निगम द्वारा उपरोक्त शौचालयो का मरम्मत नही कराया गया है ।
          श्री महौत नें चिरमिरी नगर पालिक निगम के आयुक्त से उपरोक्त मामले पर कड़ी कार्यवाही करते हुए खुर्शीद कंस्ट्रक्शन को तत्काल ब्लैक लिस्ट करने तथा इस भ्रस्ट्राचार में शामिल ठेकेदार व निगम के इंजीनियर के उपर कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *