कलेक्टर दुग्गा की थप्पड़ से हिल गए शिक्षक हीरा सिंह : लगाया थप्पड़ मारने का आरोप

जोगी एक्सप्रेस 

ए .एन अशरफ़ी 

 

कोरिया –  कोरिया जिले में  आये दिन कुछ अनूठा कारनामा देखने को मिलता ही रहता है ! और इस में गरिमामई पदों पर आसीन लोगो पर गाहे बगाहे उंगलिया  भी उठती रहती है ! बीते दिनों  कोरिया जिले के सोनहत विकासखंड के तुर्रीपानी स्थित प्राइमरी स्कूल के शिक्षक ने कलेक्ट को थप्पड़ मारने का आरोप लगाया है। शिक्षक हीरा सिंह का कहना है कि निरीक्षण के दौरान जब उसने स्कूल का ताला खोला तो वहां की गंदगी देख कलेक्टर नरेंद्र दुग्गा भड़क गए और दो थप्पड़ जड़ दिया। शिक्षक ने यह बात संघ को बताई तो वे कलक्टर के विरोध में खड़े हो गए। आज काफी संख्या में शिक्षक रैली निकालकर नारेबाजी करते हुए सोनहत थाने पहुंचे और कलक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग की। इधर कलक्टर का कहना है कि थप्पड़ मारने वाली बात गलत है।
विदित हो कि जिले के कलक्टर के साथ प्रशासनिक अमले ने शुक्रवार को तुर्रीपानी स्थित प्राइमरी स्कूल का आकस्मिक निरीक्षण किया था ।शनिवार को सुबह  प्राथमिक शाला तुर्रीपानी में पदस्थ शिक्षाकर्मी हीरा सिंह ने एक दिन पहले आकस्मिक निरीक्षण के दौरान मारपीट का आरोप लगाकर कलेक्टर के खिलाफ सोनहत थाना में शिकायत दर्ज कराई है। पीडि़त शिक्षाकर्मी के समर्थन में शिक्षाकर्मी संघ और कांग्रेस पदाधिकारी सामने आए ।इधर सोनहत  में बैठक  के बाद शिक्षाकर्मी संघ जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए रैली निकालकर सोनहत थाने पहुंचे और कलेक्टर के खिलाफ शिकायत पत्र सौंपकर कार्रवाई की गुहार लगाई ।कलेक्टर शुक्रवार को सोनहत के ग्राम तुर्रीपानी औचक निरीक्षण पर पहुंचे थे। इस दौरान तुर्रीपानी का प्राथमिक  शाला नहीं खुलने पर नाराजगी जताई थी। वहीं प्राथमिक शाला में पदस्थ शिक्षाकर्मी ने तत्काल पहुंचकर स्कूल का ताला खोला। कलेक्टर ने स्कूल का निरीक्षण कर गंदगी देख जमकर फटकार लगाई थी ।
पीड़ित शिक्षक का कहना है कि  स्कूल खुलने के निर्धारित समय पर वह पहुंच गया था। बच्चों को प्रतिदिन उनके घर जाकर स्कूल लाना पड़ता है। शुक्रवार को भी बच्चों को लेने के लिए उनके घर गया था और तीन बच्चों को अपने साथ भी लाया था। कलेक्टर ने निरीक्षण कर स्कूल में गंदगी की बात कहकर भड़क गए और ग्रामीणों के सामने मुझे चाटा मार दिया। मामले में कार्रवाई की जानी चाहिए। घटना के समय मौके पर उपस्तिथ ग्रामीण जगमोहन भी थप्पड़ मारने की घटना को सही बता रहा है।
बहरहाल जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष गुलाब कमरो ने शिक्षाकर्मी संघ को समर्थन दिया और रैली में शामिल होकर थाने पहुंचे। इस दौरान कहा कि एक शिक्षक के साथ आला अधिकारी द्वारा मारपीट की घटना को अंजाम देना निंदनीय है। कलेक्टर को एक दिन भी पद पर रहने का अधिकार नही  है। शिक्षाकर्मी संघ के अध्यक्ष रामजूठन साहू ने बताया कि पीडि़त शिक्षाकर्मी के साथ संघ के पदाधिकारी खड़े हैं। शिक्षाकर्मी को न्याय दिलाने और मारपीट करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर इकतीस जुलाई को कोरिया जिले के स्कूलों में अध्यापन कार्य ठप करने का निर्णय लिया है।

ज्ञात रहे कि  इधर कलेक्टर ने मारपीट करने वाली बात को गलत बताया और  उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य केंद्र और स्कूलों का आकस्मिक निरीक्षण कर लगातार कार्रवाई की जा रही है। स्कूली बच्चों के भविष्य और स्वास्थ्य सेवा में लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

फ़िलहाल शिक्षक संघ एक होकर कलेक्टर को हटाए जाने की मांग को लेकर अड़े हुए हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *