गाजा के हमले में इजरायली नागरिक की मौत, तीसरे दिन भी संघर्ष जारी

Last Updated on

यरूशलम। इजरायल और गाजा के बीच‪ लगातार तीसरे दिन भी संघर्स जारी है। रविवार को गाजा की तरफ से दागे गए रॉकेट की वजह से एक इजरायली नागरिक कि मौत हो गई, जबकि इजरायल के द्वारा सीमा पार की गई कार्रवाई में दो फिलीस्तीनी बंदूकधारी मारे गए हैं।

इजरायली सेना के मुताबिक गाजा द्वारा दागे गए एक रॉकेट को इंटरसेप्टर मिसाइलों ने आकाश में ही उड़ा दिया, जबकि दूसरा रॉकेट एस्केलॉन शहर में एक घर में घुस गया, जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई। गाजा में इजरायल के हमलों की वजह से इमारतों को काफी नुकसान पहुंचा है, जसकी वजह से फिलिस्तीनियों को पीछे हटना पड़ा है। फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद आतंकवादी समूह ने कहा है कि इजरायली हमले में उसके दो लोग मारे गए है।

इजरायली सेना के मुताबिक हमास आतंकियों द्वारा इजराइल पर किए गए हमले के जवाब में उन्होंने शनिवार को फिलिस्तीनी गाजा पट्टी में हमास और इस्लामिक जिहाद संगठनों के लगभग 70 सैन्य ठिकानों समेत 200 जगहों पर हमला किया। सेना का बताया की हमास में मौजूद पांच ठिकानों पर हमला किया गया, जहां हथियार बनाने का काम चलता था। इसके अलावा, अन्य इस्लामिक जिहाद के ठिकाने भी निशाने पर थे, जिनमें सैन्य परिसर भी शामिल थे।

बता दें कि इसरायल और गाजा पट्टी के बीच सीमा पर कई दिनों से हिंसक प्रदर्शन जारी है। इसके पूर्व इसरायल ने हमास के शीर्ष नेताओं के कार्यालय को निशाना बनाते हुए हमले किए थे। इसरायल ने अपने ज्‍यादातर शहरों में किसी संभावित बम हमलों से बचने के लिए सार्वजरिक स्‍थल खोल दिए हैं।

हमास फलस्‍तीनी क्षेत्र का सबसे प्रमुख इस्‍लामी चरमपंथी संगठन है। इसका गठन 1987 के जनआंदोलन के दौरान हुआ था। उसके बाद से ही ये फलस्‍तीनी क्षेत्रों से इसरायली सेना को हटाने के लिए संघर्ष कर रहा है। हमास इसरायल को मान्‍यता नहीं देता वह पूरे फलस्‍तीनी क्षेत्र में इस्‍लामी राष्‍ट्र की स्‍थापना करना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed