संजीवनी की तलाश में चिरमिरी खडगवा :गर्मी में खुद संजीवनी की हालत बिगड़ी

Last Updated on

लापरवाही की भेट चढ़ी संजीवनी 108 

मरीजो को संजीवनी की जगह मौत का इंतज़ार 

प्रयवेट अस्पतालों की बल्ले बल्ले 

जोगी एक्सप्रेस 

बैकुंठपुर चिरमिरीसामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चिरमिरी और खडगवा में   108 की सुविधा माह भर से क्षेत्र के मरीजों को नहीं मिल पा रही है। इससे आसपास में दुर्घटना होने पर लोगों को निजी वाहन से अस्पताल पहुंचाना पड़ता है। यही हाल महतारी एक्सप्रेस 102 का भी है। यह भी जर्जर हालत में है, । इससे गर्भवती महिलाओं को भी अस्पताल पहुंचने में भी परेशानी होती है।राज्य शासन द्वारा मरीजों की सुविधा के लिए कई प्रकार की योजना संचालित की जा रही है। दुर्घटना या अन्य बीमारी से गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों को अस्पताल तक पहुंचाने के लिए 108 संजीवनी  एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है। 108 पर काल करने से वाहन दुर्घटना स्थल या मरीजों के घर तक वाहन पहुंचता है, मगर चिरमिरी  का 108 संजीवनी

एक्सप्रेस 12 दिन  से खराब है, इसके चलते इसका लाभ मरीजों को नहीं मिल पा रहा है।बैकुंठपुर जिले  का 108 खाली रहने की स्थिति में ही लोगों को इसका लाभ मिलता है अन्यथा उनको निजी वाहन किराए पर लेकर अस्पताल आना पड़ता है। इसके चलते प्राइवेट वाहन मालिक उनसे मनमाना किराया वसूलते हैं।और साथ ही निजी अस्पतालों के दलाल उनको गुमराह कर निजी चिकित्सलो में इलाज के लिए प्रेरित करते है  यही हाल अस्पताल के महतारी एक्सप्रेस 102 का भी है।महीनो से धक्का प्लेट  एन वाहनों से आये दिन मरीजो को दो चार होना पड़ता है  इसके चलते गर्भवती व शिशुवती महिलाओं को अस्पताल लाने ले जाने में परेशानी होती है।चिरमिरी में पदस्थ कर्मचारियों से पूछने पर  उनका  कहना है कि वाहन में खराबी के चलते उसे जिला मुख्यालय मरम्मत के लिए बुलवाया गया है। मरम्मत होते ही वाहन चिरमिरी और खडगवा को नसीब होगा भी य नहीं अब ये भगवान् ही जाने

”१२ दिनों  से 108 संजीवनी एक्सप्रेस खराब है।या लापता है इसकी भी ठीक ठीक जानकारी अस्पताल प्रबंधन देना नहीं चाहता  इसके नहीं रहने से मरीजों को जो परेशानी हो रही है।वह अब इस भीसन गर्मी में बेमौत उलटी दस्त जेसेसाधारण  बीमारी में दम तोड़ते नज़र आएंगे यदि समय रहते इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो निश्चय ही चिरमिरी मुर्दों का शहर बन जायेगा   इसी तरह 102 महतारी एक्सप्रेस भी खराब है। इस असुविधा से चिरमिरी सहित आसपास के मरीज जूझ रहे हैं जो की चिरमिरी के नसीब में जेसे  लिखा हो

नसरीन अशरफ़ी 

प्रदेश प्रतिनिधि 

जोगी एक्सप्रेस छत्तीसगढ़ 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed