15,000 रूपये नगद रस्ते में पा कर भी नहीं डिगा इन युवाओ का ईमान कायम की इमानदारी की नई मिशाल

Last Updated on

ईमानदारी की जीती जागती मिसाल- (कलयुग से सतयुग की ओर)

जोगी एक्सप्रेस 

*लखनऊ* |लखनऊ के मध्यम परिवार से दो व्यक्ति जो कि सीसी टीवी कैमरे का काम करने वाले मोo शारिक वल्द मोo रियाज निवासी लालबाग बेलदारी लेन तथा मोo वसीक अहमद उर्फ वसीम वल्द खलील अहमद निवासी मकबूल गंज के रहने वाले दो व्यक्तियों ने ईमानदारी की मिसाल कायम की, बल्लौच पुरे से लालबाग आते हुए मोo शारिक और वसीक अहमद नाम के दो व्यक्तियों को एक अनजान बटुआ मिला जिसमे 15,000 रूपये नगद पहचान पत्र तथा एटीएम कार्ड के साथ कुछ जरूरी कागज़ भी थे, मोo शारिक और वसीक अहमद ने बटुवे में मौजूद पहचान पत्र के जरिये शाफीन वल्द अब्दुल लतीफ निवासी 264/101 बल्लौचपुरा तकिया वाली मस्जिद के पास बाजार खाला राजेन्द्र नगर पते पर पहुंच कर शाफीन वल्द अब्दुल लतीफ को बटुवा सहित उसमे रखी जरूरी चीजो के साथ 15,000 रूपये देकर ईमानदारी की ऐसी मिसाल कायम की जिसको देखकर शाफीन तथा उनके घरवालों ने भी अपना बटुवा और रूपये वापस मिलने के बाद मोo शारिक और वसीक अहमद को दुवाएं देकर शुक्रिया अदा किया और कहा आज भी दुनिया में ईमानदार लोग मौजूद हैं |

काश ! समाज का हर तबका जैसे नेतागण माननीय न्यायाधीश ऊंचे पदों पर बैठे प्रशासनिक अधिकारी व पुलिस वर्ग के साथ-साथ डाक्टर तथा आम जनता सभी अपनी जिम्मेदारी को ईमानदारी से निर्वाहन करे तो इस देश में कलयुग में भी सतयुग आ सकता है |

लखनऊ से जोगी एक्सप्रेस के लिए रिपोर्टर  @ आफाक अहमद मंसूरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *