आज से मिशन कर्नाटक पर पीएम मोदी, सिर्फ़ पहली रैली में साथ नजर आएंगे येदियुरप्पा

Last Updated on

नई दिल्ली: पहले येदियुरप्पा के बेटे का टिकट कटा और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाओं से येदियुरप्पा को किनारे किया जा रहा है. पीएम मोदी की पहली रैली के अलावा बाक़ी की रैलियों में सीएम उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा नहीं होंगे. भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस के हमलावर रुख़ को देखते हुए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने ये निर्देश दिया है कि बीएस येदियुरप्पा प्रधानमंत्री की सभाओं में न जाएं. आपको बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार को कर्नाटक में अपने तूफानी अभियान की शुरुआत करेंगे और कांग्रेस को राज्य की सत्ता से बेदखल कर दूसरी बार इस दक्षिणी राज्य में सरकार बनाने के भाजपा के प्रयासों को मजबूती प्रदान करेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहली रैली में साथ नज़र आए बीएस येदियुरप्पा अब आगे उनकी सभाओं में नहीं दिखेंगे. ये पार्टी आलाकमान का आदेश है. शायद इसलिए कि उनके साथ रहते बीजेपी और प्रधानमंत्री दोनों के लिए भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाना आसान नहीं होगा. हाल में वो बेल्लारी के माइन माफ़िया के तौर पर मशहूर जनार्दन रेड्डी के साथ चुनाव प्रचार में भी दिखे. कांग्रेस बार-बार याद दिला रही है कि येदियुरप्पा भ्रष्टाचार के आरोप में जेल जा चुके हैं.

बीजेपी येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र का टिकट काट चुकी है. येदियुरप्पा और उनका खेमा केंद्रीय नेतृत्व के रवैये से नाख़ुश है. पार्टी के सांसद अनंत कुमार हेगड़े के बयानों की वजह से दलित और पिछड़ा वर्ग लगातार उनका विरोध कर रहा है. लिंगयतो को अलग धर्म का दर्जा देने से बीजेपी का परंपरागत वोट बैंक भी दो हिस्सों में बंटा है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 15 रैलियों से पार्टी को काफी उम्मीद है.

वहीं पीएम मोदी और अमित शाह की जोड़ी के लिए कर्नाटक के ग्रामीण इलाक़ों में भाषा एक बड़ी चुनौती है. जहां हिंदी लोगों को समझ नहीं आती और अनुवाद की कोशिश में कई बार अर्थ का अनर्थ हो चुका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *