October 18, 2021

नाती ही निकला नाना का हत्यारा, पैसों के लिए की हत्या पुलिस ने 24 घण्टे के अन्दर सुलझाई अन्धी हत्या की गुत्थी

अनूपपुर(अविरल गौतम )थाना रामनगर क्षेत्रांतर्गत दिनांक 16.09.2021 की दरमियानी रात्रि एसईसीएल के रिजनल वर्कशॉप शांतिनगर के पास एसईसीएल सिक्योरिटी गार्ड रमेश केवट उम्र 58 वर्ष का शव चारदिवारी के अन्दर संदिग्ध अवस्था में मिला। घटना की प्रकृति हत्या की थी। इस गंभीरता को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस अधीक्षक श्री अखिल पटेल द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया और पूछताछ प्रारंभ की गई। अनुसंधान की वैज्ञानिक पद्धति का सहारा लेते हुए पुलिस के द्वारा अनुसंधान प्रारंभ किया गया। घटनास्थल के निरीक्षण से यह स्पष्ट होता था कि घटना का उद्देश्य चोरी नहीं मृतक की हत्या है। ऐसे में पुलिस के द्वारा इस बिन्दु पर अनुसंधान प्रारंभ किया गया, कि मृतक की हत्या से किस व्यक्ति को लाभ हो सकता है। इस संबंध में मृतक के परिजनों से पूछताछ की गई। पूछताछ के क्रम में मृतक का नाती पुष्पेन्द्र केवट जो घटना दिनांक को मृतक के साथ सोया था, उससे भी सघन पूछताछ की गई। बयानों में विरोधाभास को देखते हुए पुलिस के द्वारा गंभीरता से एवं विभिन्न कडि़यांे को जोड़ते हुए पूछताछ प्रारंभ की गई। मृतक के नाती पुष्पेन्द्र केवट के साथ तथ्यों को घटनास्थल पर जा कर वेरीफाई किया गया तो उसमें विरोधाभास प्रदर्षित हुआ। पुष्पेन्द्र केवट से बिन्दुवार पूछताछ करने के उपरांत उसके द्वारा अपना जुर्म स्वीकार कर लिया गया। आरोपी के द्वारा घटनास्थल जा कर सम्पूर्ण घटनाक्रम बताया एवं घटना में प्रयुक्त किये गये हथियारों को भी जप्त कराया। आरोपी के द्वारा यह बताया गया कि मृतक उसका नाना था। जो उसके साथ गाली गलौज करता था, एवं उसके साथ मारपीट करता था और उसको पैसे भी नहीं देता था। आरोपी को इस बात की जानकारी थी, कि वह घर का एकमात्र पुरुष सदस्य है जो अपने नान की मृत्यु के बाद मिलने वाले सारे पैसों का एकमात्र मालिक होगा। इस कारण घटना दिनांक को उसके द्वारा रात्रि में चोरों के आने की झूठी बात कहते हुए मृतक रमेश केवट को वर्कशॉप की तरफ ले जाते हुए पीछे से राड़ एवं डण्डे से वार किया गया, जिससे उनकी मृत्यु हो गई। और बाद मंे पूरी घटना को छुपाते हुए वह घर चला गया।
इस प्रकार रीजनल वर्कशॉप में सुरक्षाकर्मी की हत्या होना बहुत गंभीर व सनसनीखेज घटना थीं। जिस पर पुलिस के द्वारा तत्परतापूर्वक कार्यवाही करते हुए आरोपी को हिरासत में लिया गया। पुलिस अधीक्षक श्री अखिल पटेल के निर्देशन में अति0पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक राजन, एसडीओपी कोतमा श्री शिवेन्द्र सिंह, थाना प्रभारी रामनगर श्री प्रजापति, प्रआर. सनत द्विवेदी, आर. अमित पटेल, सायबर सेल के आर. राजेन्द्र अहिरवार व पंकज मिश्रा की इस अन्धी हत्या को सुलझाने में प्रमुख भूमिका रही। 24 घण्टे की भीतर पुलिस के द्वारा हत्या की गुत्थी सुलझा ली गई। पुलिस की इस कार्यप्रणाली से आमजन में पुलिस के प्रति विश्वास की भावना बढ़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *