December 19, 2017

सिख समुदाय के लोगों का आरोप- जबरन कबूल करवाया जा रहा है इस्लाम, सुषमा ने दिया कार्रवाई का भरोसा 

Last Updated on

JOGI EXPRESS 

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के हंगू जिले में रहने वाले सिख समुदाय के लोगों का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का मामला सामने आया है। समुदाय के लोगों ने आरोप लगया है कि एक सरकारी अधिकारी उन्हें इस्लाम स्वीकार करने के लिए बाध्य कर रहा है। पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक सिख समुदाय के सदस्यों ने हंगू के उपायुक्त शाहिद महमूद को इसकी शिकायत की है। अपनी शिकायत में, फरीद चंद सिंह ने कहा है कि समुदाय के सदस्य 1901 से इलाके में रह रहे हैं। सांप्रदायिक तनाव के बावजूद वे मुस्लिमों के साथ वे शांति से रह रहे हैं। उन्होंने कहा,किसी स्थानीय व्यक्ति ने उन्हें इस्लाम धर्म अपनाने को नहीं कहा।
सिंह ने कहा कि अगर ऐसा कोई सामान्य व्यक्ति कहता तो अपमानित करने वाला नहीं होता। लेकिन जब किसी सरकारी अधिकारी से ऐसी चीजें सुनें तो यह गंभीर मामला हो जाता है। उन्होंने शिकायत में आरोप लगाया, उनके समुदाय को प्रताड़ित किया जा रहा है।

प्रशासन की लीपापोती 
हंगू के उपायुक्त शाहिद महमूद ने मामले की लीपापोती करने की कोशिश की है। उन्होंनें कहा, सिख समुदाय के सदस्य सहायक आयुक्त के साथ बातचीत से नाराज हो गए। सहायक आयुक्त का मतलब वास्तव में वो नहीं था। उन्होंने दावा किया कि किसी को जबरन इस्लाम में धर्मांतरित करने जैसा कोई मुद्दा नहीं है। बल्कि प्रशासन धार्मिक आजादी को सुनिश्चित करता है।

भारत उठाएगा मुद्दा 
रिपोर्ट से चिंतित भारत के पंजाब राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ सिखों के इस्लाम में कथित जबरन धर्मांतरण के मुद्दे को उठाने का आग्रह किया। उन्होंने ट्वीट किया, सुषमा स्वराज जी से आग्रह है कि पाकिस्तान के साथ मुद्दे को उठाएं। हम सिख समुदाय को इस तरह से पीड़ित होने नहीं दे सकते हैं। सिख पहचान के संरक्षण में मदद करना हमारा कर्तव्य है और विदेश मंत्रालय को उच्चतम स्तर पर उठाना चाहिए। इसके जवाब में सुषमा ने कहा कि मामले को पाकिस्तान सरकार के साथ उच्चतम स्तर पर उठाया जाएगा।

पाकिस्तान में छह हजार सिख 
पाकिस्तान के नेशनल डेटाबेस एंड रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी के मुताबिक देश में करीब छह हजार सिख हैं, जो खैबर पख्तूनख्वा, संघीय प्रशासित कबायली क्षेत्र (एफएटीए), सिंध, बलूचिस्तान, ननकाना साहिब, लाहौर और पंजाब के अन्य हिस्सों में रहते हैं।

साभारः लाइव हिन्दुस्तान .कॉम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *