February 23, 2021

जनजातीय लोकनृत्य कलाकारों को करें प्रोत्साहित – स्वामी हरिहरानंद जी

अमरकंटक नर्मदा जन्मोत्सव में लोक कलाकारों ने किया मंत्रमुग्ध

अनूपपुर(मनोजद्विवेदी) मां नर्मदा का जन्मोत्सव यहाँ के स्थानीय जनजातीय लोक कलाकारों के प्रदर्शन के बिना अधूरा है। जिला प्रशासन एवं श्री नर्मदे हर सेवा न्यास के माध्यम से जनजातीय लोक नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन करके संस्कृति – कला संरक्षण का सराहनीय प्रयास किया गया है। न्यास के अध्यक्ष समाजसेवी भगवत शरण माथुर स्वास्थ्य कारणों के चलते यहाँ उपस्थित नहीं हैं । लेकिन पिछले 15 वर्षों से उनके मार्गदर्शन में संस्कृति ,कला, पर्यावरण संरक्षण के लिये बेहतरीन कार्य किया जा रहा है।
मां नर्मदा की उद्गम नगरी अमरकंटक में नर्मदा जन्मोत्सव 2021 के अंतिम दिन 20 फ़रवरी, शनिवार को मन्दिर प्रांगण में जिला प्रशासन द्वारा आयोजित जनजातीय लोकनृत्य प्रतियोगिता के मुख्य अतिथि श्री श्री 108 श्री महामंडलेश्वर स्वामी हरिहरानंद जी महाराज ने उपरोक्त विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जनजातीय कलाकारों के पसीने के आगे कोरोना जैसा खतरनाक वायरस भी भाग जाएगा ।
छोटी उम्र की जनजातीय कलाकारों का प्रदर्शन अप्रतिम है।
समय समय पर ऐसा आयोजन होना चाहिए । जनजातीय लोक कला संरक्षण की जरुरत है। सभी लोक नृत्य प्रतिभागियों का प्रदर्शन उत्कृष्ट रहा है। इन्हे प्रोत्साहन के लिये पुरस्कृत करना भी जरुरी है।
नर्मदा जन्मोत्सव 2021 के अंतिम दिन अमरकंटक में जनजातीय लोकनृत्य कलाकारों के प्रदर्शन ने वहाँ उपस्थित जन समुदाय को मंत्र मुग्ध कर दिया ।
कार्यक्रम में स्वामी श्री हरिहरानंद जी महाराज के साथ जिला संघ चालक सुरेन्द्र भदौरिया, जिला प्रचारक वीरेन्द्र जी, पूर्व विधायक रामलाल रौतेल, सुदामा सिंह, दिलीप जायसवाल, स्वामी मिलिंद जी महाराज , एसडीएम अभिषेक चौधरी, भारत विकास परिषद के पूर्व अध्यक्ष मनोज द्विवेदी, योगेन्द्र भैय्यन चतुर्वेदीशिव चौधरी,कैलाश विश्नानी, योगेश शर्मा,रज्जू सिंह नेताम, राहुल पाण्डेय, अजय शुक्ला , रामगोपाल द्विवेदी, सत्यनारायण सोनी , श्रीमती अंजना कटारे, रीना रौतेल, इंद्राणी सिंह,बबिता सिंह, वंदना मिश्रा, उमेश पाण्डेय के साथ हजारों लोगों की उपस्थिति में बीजापुरी, पिपरहा,भमरहा का गुदुम नृत्य दल, मेढाखार, उफरीकला, नवाटोला परसवार, पौनी, टिकई टोला परसवाह का शैलानृत्य दल एवं बीजापुरी के कर्मा नृत्य विधा के कलाकारों ने मनभावन प्रदर्शन किया।
पिपरहा भमरहा के गुदुम दल एवं पौनी के शैला नृत्य कलाकारों ने संयुक्त रुप से प्रथम स्थान, टिकई टोला के शैला नृत्य को द्वितीय एवं बीजापुरी के गुदुम नृत्य ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। आयोजकों ने सभी प्रतिभागियों को समान रुप से पुरस्कृत करके सभी लोक कलाकारों की मेहनत , कला प्रदर्शन की सराहना की । अतिथियों का स्वागत् एवं आभार पूर्व विधायक रामलाल रौतेल ने किया । जबकि कार्यक्रम का कुशल संचालन उमेश पाण्डेय ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *